MS Dhoni The Winner of All the Hearts – in Hindi

Ms Dhoni Hindi Biography
Ms Dhoni Hindi Biography

भारत मै Cricket खेल की लोकप्रियता का अंदाज़ा तो हम सबको है की क्रिकेट खेलने वाले Cricketers को लोग भगवान तक का दर्जा दिया करते है। सोचिए ऐसे देश की Team के Captain को कितना Pressure झेलना पड़ता होगा। आज विस्तार मै बात करने जा रहे है भारत के सबसे सफ़ल International Cricket Team के Captain Mahendra Singh Dhoni जिनको खेल जगत मै Mr.Cool, Captain Cool, MSD, Mahi, और Thala के नाम भी जाना जाता है। यह पूरे विश्व के पहले ऐसे कप्तान रहे है जिन्होने International Cricket Council (ICC) Trophies जीती है। और MS Dhoni की Captaincy के अंदर ही Indian Cricket Team Cricket के तीनों Formats मै पहली बार नंबर 1 का स्थान प्राप्त कर पाई।तो इस Article मै हम बात करेंगे Dhoni के बोहोत ही विशाल Career के बारे मै और कुछ जबरदस्त Dhoni Quotes तथा उनकी पुरे जीवन परिचय। समय ना व्यर्थ करते हुए आयिये जानते है उनके शुरुआती जीवन से लेकर उनकी उपलब्धियों तक का सफर के बारे मैं।- MS Dhoni Hindi Biography

Csk ipl winner 2021
Credit Bharat army Instagram Account
पूरा नाममहेंद्र सिंह धोनी
पिता का नामपान सिंह धोनी
माता का नामदेवकी सिंह धोनी
जन्म7 July 1981
उम्र40 साल
लंबाई1.8 मीटर
वजन78–80 Kg
Addressरांची, झारखंड, बिहार
पत्नी का नामसाक्षी सिंह धोनी
बच्चेजीवा सिंह धोनी
भाई का नामनरेंद्र सिंह धोनी
बहन का नामजयंती गुप्ता
पुरुस्कार1.पदमा श्री
2.पदमा भूषण
3.ICC Cricketer of the Year
Tournament जीते1.2007 T20 World Cup
2.2011 ODI World Cup
3.2013 ICC Champions Trophy
4.2010,2016 Asia Cup
बेस्ट रिकॉर्डएकमात्र ऐसे कप्तान जिन्होने ICC के सभी ट्रॉफी जीते हो।
ODI बेस्ट स्कोर183 vs पाकिस्तान
Test बेस्ट स्कोर224 vs Australia
T20 बेस्ट Score56 vs Australia
शादी की तारीक2010
Biopic Castस्वर्गीय सुशांत सिंह राजपूत (धोनी)
किआरा आडवाणी (साक्षी सिंह धोनी)
अनुपम ख़ैर (धोनी के पिता)
दिशा पाटनी (प्रियंका सिंह – धोनी की गर्लफ्रेंड)
धोनी कास्टराजपुत
धोनी की सैलरी$18 Lakh + Endorsement Deals

शुरुआती जीवन ( Early Life )

MS Dhoni का जन्म 7 July 1981 मैं Bihar के शहर Ranchi मै हुआ जी जोकि अब Jharkhand मै आता है। धोनी एक Hindu Rajput परिवार से आते है। दरअसल Dhoni अपने  परिवार के साथ पहले Uttarakhand मै रहा करते थे। जब वह काफ़ी छोटे थे तभी वह Uttrakhand छोड़ Ranchi रहने लगे। इनके परिवार मै धोनी के पिता Pan Singh जोकि MECON Company मै एक Junior Management Position पर काम किया करते थे। धोनी की माता Devaki Singh एक ग्रहणी है।

Dhoni की एक बड़ी बहन और एक भाई है जिनके नाम Jayanti Gupta और Narendra Singh Dhoni है।

Education of Dhoni

Dhoni ने अपने शुरुआती शिक्षा DAV Jawahar Vidya Mandir, Shyamali ,Ranchi Jharkhand से की। हालाकि इसके बाद वह आगे की पढ़ाई नहीं कर सके क्युकी उनको पढ़ाई मै उतनी रुचि भी नही थी। और उन्होने School के समय से ही Cricket खेलना शुरू कर दिया था उसके कारण उनका Selection Club Cricket Teams मै होने लगा था।

How Dhoni Started – धोनी ने क्रिकेट खेलना कैसे शुरू किया

जैसा की आप सभी जानते होंगे Dhoni Shuru मै Cricket नहीं खेला करते थे। उन्हे ज्यादा रुचि Football और Badminton मै थी। धोनी Badminton और Football के लिए वह District और club Tournaments के लिए selection भी हो गया था। धोनी Football मै एक Goalkeeper के तौर पर खेला करते थे । उनके Football Coach ने उन्हे Local Cricket Club के लिए Cricket खेलने को कहा। लेकिन उन्होंने वहा Batting नहीं मिली लेकिन उन्होंने वहां Coaches को अपनी Wicket keeping से बोहोत प्रभावित किया । इसके बाद से उन्हे Commando Cricket Club मै Regular Wicket Keeper के तौर पर खेलने लगे।

Dhoni के लाज़वाब प्रर्दशन के चलते उन्हें Vinoo Mankad Trophy Under-16 Championship मै उनका Selection हो गया। Dhoni का वहां भी लाज़वाब प्रदर्शन रहा।

ms dhoni hindi
dhoni quotes

Dhoni’s Indian Railway’s Job  धोनी की इंडियन की नोकरी

धोनी कक्षा 10वी के बाद से ही अपना पूरा ध्यान Cricket पर देने लगे थे। लेकिन Railway का Exam दिया था उसमे वह select हो गए उसके चलते धोनी  Indian Railways के Kharagpur Railway Station मै एक Travelling Ticket Examiner (TTE) की नोकरी लग गई। धोनी ने वहा 2 साल 2001 से 2003 तक Railways मै काम किया लेकिन वह जानते थे की वह इसके लिए तो नही बने है उन्हे Cricket खेलना है।

इसलिए उन्होंने Railway के साथ ही साथ Cricket खेलते रहे उसी समय से वह Ranji Trophy मैं भी खेला करते थे ।

लेकिन एक समय आने पर उन्होंने पूरी तरह से ठान लिया की अब Cricket को ही पुरा समय देना चाहते है। इसलिए उन्होंने अपनी Railway की नौकरी छोड़ पूरी तरह जुट गए अपना क्रिकेट मै Career बनाने मै।

अब धोनी वैसे तो बोहोत जगह Matches खेल चुके थे काफी Tournaments मै उनका प्रदर्शन बोहोत अछा था। लेकिन उनके लिए उस समय सबसे बड़ा सवाल यह था की Indian National Team मै जगह कैसे मिलेगी ?

Dhoni’s Vs Yuvraj

Dhoni के लगातार अच्छे प्रदर्शन के बाद भी उन्हे National Team मै मौका नहीं मिल रहा था। धोनी बताते है की उनका Bihar की Team और Punjab का एक Test मैच होना था जिससे देखने कुछ Selectors आने वाले थे। उस मैच मै उनके Coach ने कहा की अगर तुम इस मैच मै अच्छा कर दोगे तो हो सकता है तुम India A के लिए Select हो जाओ।

जहां बिहार की टीम से खेल रहे थे धोनी तो दूसरी तरफ़ Punjab की Team मै Yuvraj Singh खेला करते थे। उस मैच मै पहले बिहार को बल्लेबाजी करनी थी जिसमे पूरी Team का Score 357 जिसमें Dhoni ने 84 Runs बनाए थे । वही अकेले युवराज सिंह ने 358 Runs जड़ दिए बिहार के Total Score से एक रन ज्यादा। ये स्टोरी धोनी ने अपनी Biopic मै भी बताई गई है। इसके चलते ही युवराज सिंह का Selection धोनी से पहले हो गया। और धोनी को और महनत करनी पड़ी।

Dhoni’s Selection

कुछ समय बाद प्रकाश पोडर ने धोनी के टैलेंट क पहचाना और उसके कुछ समय बाद उन्हें India A टीम मै मौका मिला। उस Series मै धोनी का शानदार प्रदर्शन रहा। उन्होंने Series के पहले मैच मै ही 50+ Runs बना दिए और Team को जीत तक लेकर गए। इसी Series मै धोनी ने 120,119 Runs की परियां खेल 7 Matches मै 362 बनाए।

धोनी के शानदार प्रदर्शन देख Saurabh Ganguly ने उन्हें Indian National Cricket Team मैं मौका दिया। जोकि उस समय के कप्तान थे।उस समय के Selectors के पास भी Parthiv Patel और Dinesh Karthik जेसे Wicket Keeper बल्लेबाज थे। जोकि दोनो ही  Under 19 मै कप्तान रह चुके थे। लेकिन धोनी अपने Talent के दम पर और शानदार प्रदर्शन के चलते अपनी एक अलग ही छवि बना चुके थे।

2004–2005 मै Bangladesh Tour के लिए चुना गया। जोकि उनका बेहद ही निराशाजनक रहा। वह अपने पहले ही मैच मै 0 पर Out हो गए। तब भी कप्तान ने उनमें भरोसा जताया और अगले Pakistan मै होने वाले Tour मै मौका मिला।

Pakistan के खिलाफ़ मैच मै धोनी को Saurabh Ganguly ने नंबर 3 पर उतरने को कहा। और उस मैच मै धोनी शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए 148(123)* Run बनाकर Team को जीत दिला दी। यह किसी भी Wicket keeper Batsman द्वारा सबसे अधिक Score था । एक वो दिन था उसके बाद से कभी Dhoni ने पीछे मुड़कर नही देखा।

DHONI QUOTES

ms dhoni biography

Dhoni The Captain

2007 मै जब Rahul Dravid ने One Day International और Test Cricket से इस्तीफा दे दिया तो Sachin Tendulkar को कप्तान बनने को कहा गया लेकिन उन्होंने बड़े ही विनम्रता से मना कर दिया और Dhoni को कप्तान बनाने का सुझाव दिया। इस कारण MS Dhoni को Team India का कप्तान बनाया गया।

हालाकि Yuvraj Singh के पिता Yograj Singh कहते है की कप्तान Yuvraj को बनाना चाहिए था और वह ही बनने वाले थे। लेकिन न जाने केसे Dhoni कप्तान बन गए। Yograj Singh के कई और Statements है Dhoni को लेकर। यह उनकी बातो मै साफ झलकता है की कितनी नफ़रत है उनकी अंदर Dhoni को लेकर।

Dhoni की कप्तानी मै ही बोहोत बड़े बड़े खिलाड़ी खेले है जिसमे से सबसे बड़ा नाम है Sachin Tendulkar जिन्हे भारत मै  क्रिक्रेटके भगवान ( God of Cricket ) का दर्जा दिया जाता है। वही God of Cricket धोनी के बारे मैं कहते है की –

” धोनी विश्व स्तर के सबसे बेहतरीन कप्तान है। मैं बोहोत भाग्यशाली हु जो मै उनकी कप्तानी के समय खेला हु।”

आज भी विश्व स्तर के खिलाड़ी यह मानते है की धोनी जैसा कप्तान नही है कोइ।

T20 World Cup 2007

जब 2007 मै राहुल द्रविड़ सिर ने T20 World Cup से अपना नाम वापस लिए तब धोनी को कप्तान बनाया गया। उस समय टीम मै  Virender Sehwag, Harbhajan Singh, Gautam Gambhir,  जेसे बड़े बड़े नाम मोजूद थे। धोनी के लिए इतने बड़े नामों को एक साथ टीम मै Handle करना अपने आप मै बोहोत बड़ी चुनौती थी लेकिन धोनी ने यह काम भी बोहोत ही अच्छे से किया।

2007 मैं पहली बार विश्व मै T20 World Cup का Tournament हुआ। लेकिन भारत मै माहोल बन रहा था की भारत T20 World Cup मै भाग नही लेने वाला है। लेकिन विचारो के बाद भारती ने हिसा लिया। और जिसमे भारत का Squad कुछ इस तरह था –

Virendra Sahwag, MS Dhoni (C, WK), Rohit Sharma,  Yuvraj Singh (Vc), Gautam Gambhir, Sreesanth, Harbhajan Singh, RP Singh, Robin Uthappa, Joginder Sharma, Dinesh Karthik, Piyush Chawla, Ajit Agarkar, Yusuf Pathan, Irfan Pathan.

जिसमे भारत का लाजवाब प्रदर्शन रहा और भारत पहली बार T20 World Cup Trophy जीत गया। जिसमे सबसे ज्यादा रन Yuvraj Singh ने बनाए वही भारत की तरफ़ से सबसे ज्यादा विकेट लेने बॉलर बने RP Singh.

भारत के T20 Cricket World Cup जीतने के बाद से ही भारत मै क्रिक्रेट घर घर तक पहुंच गया था भारत मै Cricket को एक नई पहचान मिल गई थी।

dHONI MOTIVATIONAL QUOTES
धोनी कोट्स

One Day International World Cup 2011

T20 World Cup जीतने के बाद से ही भारत के Regular कप्तान बन गए धौनी । World Cup जीतने के बाद टीम का कुछ खास प्रदर्शन नही रहा। टीम ढीली पड़ते जा रही थी इसके कारण धोनी को कुछ कठोर फैसले लेने पड़े जेसे की Sachin Tendulkar , Virender Sehwag और Gautam Gambhir को एक साथ न खिलाना। धोनी का मानना था की ये तीनों का साथ मै खेलने से टीम की Fielding बोहोत कमज़ोर हो जाती है । इसलिए उन्होंने Rotation करके तीनों को खिलाया जेसे की कभी Sachin Tendulkar और Sehwag को साथ खिलाया गया। या फिर Sachin और Gautam को साथ खिलाया तो Sehwag को ड्रॉप कर दिया गया। हालाकि ये भी उतना कारगार साबित नही हुआ। लेकिन एक समय आने तक तीनो अच्छा प्रदर्शन लगे तो तीनो साथ खेलने लगे।

उसके बाद आता है  2011 ODI World Cup जिसमे सबको उम्मीद थी की भारत ये World Cup जीतेगा। और पूरी टीम की पूरे Tournament मै लाजवाब प्रर्दशन के चलते भारत Dhoni की कप्तानी मै ODI World Cup भी जीता।

जिसमे फिर से Yuvraj Singh के पूरे Tournament मै सबसे ज्यादा रन थे। इसलिए उन्हें Man of the Tournament मिला।

लेकिन Final Match के Hero रहे Gautam Gambhir और Mahendra Singh Dhoni. जहां Gautam Gambhir ने 97(122) रन बनाए वही Dhoni ने 91(79)*  रन बनाए और आखिर मैं एक शानदार छ्क्का मार कर ODI World Cup भी अपने नाम किया।

FAQ

Q1. Dhoni World Cup 2011 मै 4 नंबर पर क्यों?

2011 World Cup मै जब Dhoni Yuvraj Singh से पहले Batting करने उतरे उसके बाद कई सवाल उठे खास कर Yuvraj Singh के पिता Yograj Singh के कई बयान आए की Dhoni जान पुछ कर युवराज सिंह से पहले Batting करने उतरे जबकि युवराज सिंह का प्रर्दशन पूरे Tournament मै शानदार रहा था। वह Tournament के सबसे ज्यादा रन बनने वाले खिलाड़ी थे। जब धोनी से ये सवाल पूछा गया की आप Yuvraj Singh से पहले बैटिंग करने क्यों उतरे?
तब उसपर धौनी का जवाब था की “Yuvraj Singh का पुरे Tournament मै बेहतरीन प्रर्दशन रहा है। लेकिन Yuvraj Singh खुद भी यह जानते है की वह स्पिन के सामने पूरे Tournament मै फस रहे थे। और सामने से Muttiah Muralitharan बॉलिंग कर रहे थे जिनके सामने उनका Record उतना अच्छा नही था। उनके सामने वह हमेशा फसते नज़र आते है। और अगर उस समय Yuvraj Singh को भेज दिया होता और अगर वह Out हो जाते तो उनके बाद टीम मै कोई Batting Line Up बची ही नही थी।
दरअसल हम जब Country के लिए खेलते है तब हमें ये नही देखना होता की किस खिलाड़ी की Position क्या है। हमे Situation के accordingly बदलाव करने पड़ते है। और यही चीज Yuvraj से पूछेंगे तो वह भी आपको यही जवाब देंगे ।

Q1. धोनी को 2011 World Cup Final के मैच मै Man of the Match क्यों मिला ?

2011 World Cup के फाइनल मैच मै भारत को 274 का लक्ष्य मिला था। जिसका पीछा करते हुए भारत की शुरुआत अच्छी नहीं हुई। Virender Sehwag और Sachin Tendulkar जल्दी आउट हो गए। भारत बुरी तरह फस चुका था वहीं Gautam Gambhir ने पारी को एक छोर से संभाला रखा और बाकी सारे खिलाड़ी आउट होते रहे। तब धोनी और गंभीर ने साथ मिलकर एक बेहतरीन Partnership करी और भारत को जीत की दहलीज पर ला कर खड़ा कर दिया।
Gautam Gambhir 97(122) रन बनाकर Out हो हो गए। फिर धौनी डटे रहते है और Yuvraj Singh के साथ मिलकर भारत को जीत दिला दी। इस Match मै धोनी ने 91(79)* रन बनाकर आखिरी मै छक्का मार जीत दिला दी
धोनी को Man of the Match का Award इसलिए मिला क्युकी उन्हों 91 Runs बनाने के लिए केवल 79 बॉल्स का सामना किया वही गंभीर ने 97 Runs बनाने के लिए 122 का सामना किया। धोनी ने अपनी पारी मै 2 लंबे छक्के मारे थे। जोकि पूरी Team मै से किसी ने भी एक भी छक्का नही मारा था।
हालाकि हम मानते है की Man of the Match के हकदार दोनो ही खिलाड़ी बराबर के  हकदार है। दोनो ने ही अपना काम बाखूबी से किया था। और Dhoni भी यहीं सोचते है।

Champions Trophy 2013

2013 की Champions Trophy से पहले ही Sachin Tendulkar ODI Cricket से सन्यास ले चुके थे। तो उनकी जगह भारत को एक नए ओपनर की जरूरत थी। धोनी ने Rohit Sharma मैं विश्वास जताते हुए उनसे कहा क्या तुम ओपन करना होगा। रोहित शर्मा अपने कई Interviews मै कह चुके है मुझसे 2013 के बाद जब से मानने ओपन करना शुरू किया है उसके बाद के सवाल किया करो उसके पहले के मत पूछो क्युकी वह जानते है की उनका खेल निखरकर तभी आया है जबसे उन्होंने ओपन करना शुरू किया है। 

2013 की चैंपियंस Trophy मै Team India का शानदार प्रर्दशन रहा भारत एक भी मैच नहीं हारा। League के सभी matches मै भारत ने विजय हासिल की ओर 23 June 2013 को Final मै जीत कर Trophy अपने नाम की।

Champions Trophy मै भारत की टीम पूरी अलग बनाई गई थी जिसमे दोनो ओपनर्स मै से किसी को ज्यादा Experience नही था। लेकिन फिर भी दोनो ही Openers ने लाज़वाब प्रर्दशन किया। और final मै Virat Kohli और Ravindra Jadeja की अच्छी पारी के चलते भारत England को एक अच्छे स्कोर का Target दे सका। जिसके कारण भारतीए गेंदबाजों को टोटल Defend करना उतना मुश्किल नहीं हुआ। लेकिन गेंदबाजों का भी शानदार परदर्शन के कारण ही भारत Trophy अपने नाम कर सका।

इसी के साथ Dhoni विश्व के पहले ऐसे कप्तान बन गए जिसने International Cricket Council (ICC) Board की तीनो Trophy अपने नाम की हो।

Chennai Super Kings History

2007 के T20 World Cup के बाद से भारत मै T20 को लेकर एक अलग ही Fanbase बन चुका था। उसी को नज़र मै रखते  Board of Cricket Council India ( BCCI ) ने एक Tournament Announce किया जिसका नाम रखा गया Indian Premier league ( IPL ) इसमें कुल आठ टीमें खेलनी थी जिसमे अलग अलग देशों के खिलाड़ी आकार हिसा ले सकते है। हर टीम मै केवल 4 विदेशी खिलाड़ी हो सकते है और बाकी सब भारतीए होने चाहिए।

उन 8 Teams मै से ही एक टीम बनाई गई Chennai Super Kings (CSK) जिसके कप्तान रहे Ms Dhoni हालाकि उस समय मै Chennai Super Kings मै कोई ऐसा बड़ा नाम नही हुआ करता था जेसे बाकी IPL की Teamo मै थे जेसे की Mumbai Indians मैं Ricky Ponting, Sachin Tendulkar, Jack kalis जेसे महान खुलाडियो का नाम हुआ करता था।

वही चेन्नई सुपर किंग्स मै धोनी के आलावा कोई ऐसा बड़ा नाम नही हुआ करता था और Suresh Raina भी उस समय नए ही थे।

उसके बावजूद Team पहले ही Tournament मै Final मै पहुंच गई।

आप को बता दे Chennai Super Kings ही एक ऐसी टीम है जो जीतने बार भी खेली है हर बार टॉप 4 मै Qualify करती है। बस 2020 जोकि हर किसी के लिए बुरा साल रहा वह Chennai Super Kings के इतिहास का सबसे खराब साल रहा।

Dhoni की कप्तानी मै Chennai Super Kings ने  IPL की सबसे सफल टीमों मै से एक का खिताब हासिल किया है।

आज Chennai Super Kings दुनिया की सबसे लोकप्रिय टीमों मै गिनी जाती है। और मैं दावा कर सकता हु जीतने भी Chennai Super Kings के fans है वो केवल धोनी की वजह से। CSK का Sidha मतलब आप कह सकते है Dhoni, धोनी ही CSK की जान है। भी Chennai की शान है।

Ms Dhoni Hindi biography

Q1.Chennai Super Kings दो साल क्यों नही खेली ?

Chennai Super Kings शूरू से ही आईपीएल मै सबसे बहतारीन Team मै से एक है। लेकिन 2015 के एक मैच मै किसी खिलाड़ी पर Spot Fixing करने का इल्ज़ाम लगाया गया। जिसके कारण Chennai Super Kings के साथ ही साथ Rajasthan Royals को 2 साल के लिए Suspend कर दिया गया था। यह 2 साल Dhoni Chennai की टीम से ना खेल Rising Pune Supergiants की कप्तानी की हालांकि पहले साल पुणे सुपरगैंट्स ने कुछ खासा अच्छा  खेल नही दिखा सके क्युकी उनको लगभग आधी Team के खिलाड़ी चोट के चलते Tournament से बाहर हो चुके थे।
लेकिन अगले साल फिर से Pune SuperGiants ने कमाल का प्रर्दशन किया और Finals मै अपनी जगह बनाई लेकिन जीत नही सेक।
लेकिन जब वह 2 साल का लंबा अंतराल खतम हुआ तो Chennai Super Kings Vapas आई और फिरसे उन्होंने Kings की तरह अपना खेल दिखाते हुए । IPL 2019 मै IPL 3 बार खिताब अपने नाम किया।

Q2. Who is Thala And Chinna Thala ?

थाला ( Thala ) – धोनी ( MS Dhoni )

चिन्ना थाला ( Chinna Thala ) – सुरेश रैना ( Suresh Raina )

Q3. क्या धोनी 2022 के आईपीएल मै खेलेंगे ?

धोनी की International Cricket से Retirement के बाद से यह सवाल से यह सवाल बोहोत बार पूछा जाता है की क्या वह 2022 का आईपीएल खेलेंगे की नही क्युकी Dhoni के बिना Chennai को सोचना फैंस के लिए बोहोत ही ज्यादा मुश्किल है।
CSK के Official Source के मुताबिक धौनी ने 2021 तक का CSK के लिए IPl  का Contract Sign किया था। लेकिन अभी किसी भी Source से यह कहना मुश्किल है की वह 2022 मै IPl खेलेंगे की नहीं ये सिर्फ़ Dhoni ही जानते है

Q4.धौनी किस खिलाड़ी को अपना Idol मानते है ?

MS Dhoni जिनकी आज पूरा देश उनके खेल का दीवाना है। वह बताते है की वह खुद Adam Gilchrist और उनके साथी  और क्रिक्रेट के भगवान Sachin Tendulkar को अपना Idol मानते है। धोनी को Bollywood Actor Amitabh Bachchan भी बोहोत पसंद है। और वह खाली समय मै Lata Mangeshkar जी और Kishore Kumar जी के गाने सुनना पसंद करते है।

  Records of MS Dhoni

1. धोनी ही एकमात्र ऐसे कप्तान है जिन्होने ICC की तीनो Trophies अपने नाम की हो।

2. धोनी ने अपने career मै  कुल 95 Test Matches मैं 38.09 के Batting Average से खेले है जिनमे वह 4876 बना चुके है।

3. धोनी ने अपने आदि Career मै 350 अंतराष्ट्रीय मुकाबले खेले है जिसमे वह 50.53 की Batting Average से 10,773 रन बना चुके है।

4. T20 मै भी धोनी  98 मुकाबलों मै 37.60 के Average से 1617 रन बना चुके है।

5. धोनी ही केवल एक ऐसे कप्तान है जिन्होने 60+ ज्यादा विकेट लिए है।

6. धौनी का Test Matches मै Highest Score 224 है जोकि 3 सबसे बड़ा स्कोर है किसी भी Wicketkeeper का।

7. अपनी Wicket keeping से एक Innings मै 6 Wicket लेने वाले पहले Wicket Keeper है।

8. धोनी ने ओढ़ी Cricket मै सबसे ज्यादा 200 wickets लिए है।

9. धौनी एक मात्र ऐसे Wicket Keeper हैं जिसने एक Series मै 300 से अधिक रन और 15 Wicket लिए हो।

10. धोनी का ODI मै Highest Score है 183* जोकि आजतक का सबसे अधिक स्कोर है किसी भी Wicketkeeper Batsman द्वारा।

11. धोनी का World Record है सबसे तेज Stumping करने का जोकि सिर्फ़ 0.08 Seconds का है।

ऐसे कई अनगिनत Records हैं Mahendra Singh Dhoni के नाम सबको लिखने से ज्यादा लम्बा आर्टिकल हो जाएगा इसलिए अप गूगल कर ले।

MS Dhoni Retirement

Dhoni ने 26 December 2014 को Australia के साथ हो रही Series के दुसरे Match मै ही अचानक से Retirement Announce कर दी जोकि किसी ने सोचा नहीं था।

धोनी ने 2017 मै ही ODI और T20 Format मै से अपनी Captaincy छोड़ दी थी उसके बाद 2 साल वह Virat Kohli के Under खेले।

2019 World Cup Semi Final के हार बाद से धोनी ने 5–6 महीने तक कोइ क्रिक्रेट नही खेला और 15 August 2020 को उन्होंने एक बोहोत ही भावुक सा  Instagram Post करके दुनिया को अपनी Retirement के बारे मैं बता दिया।

लेकिन धोनी आज भी अपनी IPL Team की तरफ़ से कप्तानी करते है।

धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संस्यास क्यों लिया था ?
धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संस्यास क्यों लिया था ?

धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संस्यास क्यों लिया था ? Stargazing: The players in my life मै रवि शास्त्री धोनी के बारे मै क्या कहते हैं ?

धोनी हमेशा से ही शांत स्वभाव के खिलाडी हैं। पिछले साल ही 15 August 2020 से उन्होंने international क्रिकेट के सभी format से सन्यास ले लिया था और किसी को कोई अंदाज़ा भी नहीं था। इसी प्रकार उन्होंने ऑस्ट्रेलिया से साथ हो रही शृंखला के 2 टेस्ट मैच ख़तम होने क बाद retierment अनाउंस कर दी।

सवाल है की जब धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का एलान किया था आखिर कार उस समय क्या हुआ था, इसका खुलासा टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने हाल ही में अपनी किताब Stargazing: The players in my life में बताया है।

Ravi Shastri अपनी किताब क ज़रिये बताते हैं मैच के ख़तम होने क बाद धोनी को प्रेस कॉन्फ्रेंस करने जाना था उससे पहले वे मुझसे मिले और कहा की रवि भाई मुझे कॉन्फ्रेंस के बाद प्लेयर्स से कुछ बात करनी है। मैंने कहा जरूर माहि आप कप्तान हैं टीम के आप बिलकुल जब चाहे बात कर सकते हैं। जब धोनी कॉन्फ्रेंस से लोटे तो उन्होंने साड़ी टीम मैनेजमेंट के सामने ये एलन कर दिया की अबसे वह टेस्ट में सपत्नी नहीं करेंगे। ये बोहोत ही चौका देने वाला फैसला था केवल मेरे लिए ही नहीं बल्कि पूरी टीम मैनेजमेंट और पुरे देश के लिए। ये फैसला इस वजह से भी आश्चर्य मै दाल देता है की उस दौरे पर भारत का अच्छा प्रद्रशन रहा था और धोनी भी काफी अच्छी फॉर्म मै थे। मैंने धोनी को मनाने की कोशिश कि वो अपने फैसले पर दोबारा विचार करें। उनके पास अपने टेस्ट करियर को और बेहतर करने का मौका था।

आगे शास्त्री कहते हैं। धोनी के लिए शुरू से ही निजी रिकार्ड्स मायने नहीं रखते हैं। धोनी अपने carrier मै 90 Matches खेल चुके थे केवल 10 टेस्ट बाद उनके 100 test matches पुरे हो जाते जोकि किसी भी खिलाडी का पहला सपना होता है।

यह सही है कि उनकी उम्र बढ़ रही थी, लेकिन तब भी वह टीम मई 3 सबसे फिट खिलाड़ियों मई एक थे। फिर भी उन्होंने टेस्ट क्रिकेट को छोड़ने का फैसला कर लिया। अब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो मुझे लगता है कि उनका निर्णय सही था।

MS Dhoni Love Life ( धोनी की प्रेम कथा )

MS Dhoni आप सभी लोगो ने Ms Dhoni की Biopic MS Dhoni The Untold Story तो देखी ही होगी उसमे अपको दिखाया जाता है की एमएस धौनी की पहली Girlfriend रही Priyanka Jha जिनकी मृत्यु  एक Accident हो गई थी।

उसके बाद उनकी मुलाकात Sakshi Singh Rawat से होती है। शायद आप नही जानते होंगे की साक्षी और धौनी दोनो एक ही School से पढ़े हुए है। और दोनो के पिता भी एक समय पर एक ही जगह काम किया करते थे।

लेकिन इन दोनो की जब मुलाकात हुई तब ये एक दुसरे को नही जानते थे। दरअसल जो भी Movie मै दिखाया गया इनकी मुलाकात के बारे मैं वह एक दम सच है। और आज ये दोनो शादी के एक पवित्र रिश्ते मै बंधे हुए है।

धोनी की एक बेटी है जिसका नाम Jiva Singh Dhoni है।

Ms Dhoni Hindi Biography

MS Dhoni Lifestyle

जेसा की आप सभी जानते है भारत मै Cricket को कितना पसंद किया जाता है। और आज़ BCCI Duniya के सबसे अमीर Cricket Boards मै से एक है। तो ऐसा मै भारतीए खिलाड़ियों की भी फीस अच्छा होना लाज़मी है।

MS Dhoni को एक T20 Match खेलने के लिए 2 लाख रुपए मिलते है।

वहीं एक ODI Match के 3 लाख तो Test Match की फीस 5 लाख रुपया मिलता है।

धोनी को एक IPL Season के लगभग 15 करोड़ रुपए दिए जाते है। और अलग से ब्रांड Endorsement के 14 करोड़ रुपए चार्ज करते है Dhoni.

धोनी की National Team मै Retained Fees है 1 करोड़ रुपए।

ये सब मिला कर और भी अलग अलग sources मिला कर एमएस Dhoni की Net Worth है 760 करोड़ है।

Dhoni का एक शानदार घर है देहरादून मै जिसका कीमत होगी लगभग 18 करोड़।

जैसा की ज्यादातर लोग जानते ही होंगे की धोनी को Bikes और Cars का बोहोत शौक है। इनके पास लगभग 13 करोड़ तक की Cars Collection है। जिसमे और लगभग 6 करोड़ तक की Bikes Collection हैं।

Dhoni In Indian Army

MS Dhoni ना सिर्फ़ क्रिक्रेट से बल्की देश की आर्मी से भी प्यार करते है इसलिए उन्हें Army भी Join की हुई है। जिसमें उनकी पोस्ट एक Lieutenant Colonel है। Retirement के बाद उन्होंने अपना ज्यादा समय Army के साथ बिताया।

धोनी 15–15 तक Army के साथ रहकर पेट्रोलिंग भी करी है।

MS Dhoni Awards

2007 मैं Rajiv Gandhi Khel Ratna Award.

2009 मै Padma Shree Award.

2008,2009 ICC Player of The Year.

2011 मै ICC Spirit of Cricket By ICC.

CNN-IBN Indian of the year in Sports.

2018 मै Padma Bhushan Award.

2013 मै LG People’s Choice Award.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here